उत्तर कोरिया ने अंतरिक्ष में परमाणु  मिसाइल छोड़ दी तो क्या होगा ?


अमेरिका दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश आज अपने ही बनाये हुए हथियार परमाणु बम से डर रहा है l सबसे पहले सन 1945 में जापान पर बम गिराकर अमेरिका ने द्वितीय विश्वयुद्ध जीता था l तब उसे इस बात का ऐ/ हसास नहीं था की उसके द्वारा बनाये गए हथियार का सामना उसे भी एक दिन करना पड़ेगा l आधुनिक समय में ये परमाणु हथियार सिर्फ गिने चुने देशों के पास ही है l अमेरिका , रूस , चीन, फ्रांस , ब्रिटेन , भारत , पाकिस्तान के पास परमाणु हथियार है और  हाल ही में तानाशाह देश उत्तर कोरिया के पास यह हथियार आ गया है l यह किसी से छुपा नहीं है की चीन ने अपने फायदे के लिए पाकिस्तान को परमाणु तकनीकी दी है और पाकिस्तान के परमाणु कार्यक्रम के जनक कहे जाने वाले परमाणु वैज्ञानिक अब्दुल कादिर खान (ए. क्यू. खान) ने उत्तर कोरिया को परमाणु तकनीकी बेच दी l


उत्तर कोरिया के परमाणु सम्पन्न होने से अमेरिका पर परमाणु बम का खतरा मडराने लगा है l उत्तर कोरिया अमेरिका के मुकाबले कुछ नहीं है लेकिन क्योकि उसने परमाणु बम बना लिया है और लम्बी दूरी की मिसाइलों का परिक्षण भी कर रहा है जिससे अमेरिका का बहुत बड़ा भाग उसकी जद में आ जायेगा l यही कारण है की अमेरिका चीन पर दवाव बना रहा की वह उत्तर कोरिया को परमाणु हथियार नष्ट करने के लिए राजी करे l चीन के बढ़ते दबाव का उस पर कोई फर्क पड़ता नहीं दिख रहा है और अब उत्तर कोरिया ने चीन को भी आड़े हाथो लेते हुआ कहा है की यदि उसके संयम की परीक्षा ली गयी तो खतरनाक परिणाम भुगतने होंगे l उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग का मानना है की यदि उसने परमाणु हथियार नष्ट कर दिए तो उसका भी वही हश्र होगा जो लीबिया के तानाशाह कर्नल मुअम्मर गदाफी और इराक के सद्दाम हुसैन का हुआ था l


अपनी शक्ति के अनुसार उत्तर कोरिया यदि अंतरिक्ष में विस्फोट करता है तो वह पूरी दुनिया को झुकने पर मजबूर कर देगा क्योकिं इससे पूरे संसार के सैन्य तंत्र,ख़ुफ़िया प्रणाली और संचार प्रणाली नष्ट हो जाएगी और बड़े से बड़ा हथियार काम करना बंद कर देगा l इस प्रकार के हथियार  को इलेक्ट्रोमैग्नेटिक पल्स वीपन कहते है l इस तकनीकी का प्रयोग भी सर्वप्रथम अमेरिका ने सन 1962 में किया था l प्रशांत महासागर के 400km ऊपर ये विस्फोट किया गया था l जानकारों का इस परीक्षण के सफल होने पर आम राय नहीं है l आज उत्तर कोरिया इस पर भी विचार कर रहा है ऐसा कुछ रक्षा विशेषज्ञों का कहना है l इससे इंकार नहीं किया जा सकता की उत्तर कोरिया युद्ध की तैयारियां पूरी कर चुका है l


क्या है ईएमपी?


इलेक्ट्रोमैग्नेटिक पल्स (ई एम पी) एक ऐसी तकनीकी है जिसमे परमाणु मिसाइल में इलेक्ट्रोमैग्नेटिक पल्स केनन को लोड किया जाता है l जब मिसाइल को अन्तरिक्ष में विस्फोट किया जाता है तो इससे बहुत ही शक्तिशाली इलेक्ट्रोमैग्नेटिक पल्स निकलती है जिससे वहाँ मौजूद सैन्य यंत्र, ख़ुफ़िया यंत्र और संचार प्रणाली में काम आने वाले यंत्रो का वोल्टेज आवश्यकता से अधिक अचानक बढ़ जाता है जिससे ये यंत्र तुरंत नष्ट हो जाते है l यह प्रक्रिया इतनी तेज होती है की इन्हें बचाने तक का समय नहीं मिल पाता है l यदि यह घटना अमल में आ जाती है तो पृथ्वी पुनः पाषण काल में पहुच जाएगी l मोबाइल फोन , इन्टरनेट और दूरभाष सब नष्ट हो जायेगा और आप दुनिया में अकेले पड़ जायेंगे l संपर्क न होने से विकास की गति बहुत धीमी हो जाएगी l हम फिर से 100 साल पीछे हो जायेंगे l सोचिये बिना मोबाइल फ़ोन सेवा और इन्टरनेट के जीवन कैसा हो जायेगा l



उत्तर कोरिया ने अमेरिका पर बहुत ही गंभीर आरोप लगाया है की उनके नेता किम जोंग उर को अमेरिका की एजेंसी CIA ने रासायनिक हथियार के जरिये हत्या करने की साजिश रची है l अमेरिका कोरियाई द्वीप पर नजर बनाये हुए है l वही दूसरी तरफ उत्तर कोरिया भी पूरी तयारी के साथ दो – दो हाथ करने को तैयार है l प्योंगयांग ने अपनी सैन्य तैयारी कर ली है l हल ही के खुलासे में ये बात सामने आयी है की उत्तर कोरिया ने अंतर महाद्वीपीय बैलास्टिक मिसाइल(ICBM) का परिक्षण किया है l तानाशाह किम जोंग उर ने तोपखानों का निरिक्षण किया और सेना की तारीफ की है l इन सभी तैयारियों को देखते हुए लगता है की किम जोंग उर विश्व के लिए खतरा बना हुआ है l किम जोंग अपनी तानाशाह हरकतों के लिए जाना जाता है l एक कार्यक्रम में सेनाध्यक्ष को नींद की झपकी आ गयी और इसकी सजा की रूप में किम जोंग ने उन्हें गोलिये से भुनवा दिया l इसके अलावा उन यह भी आरोप है की उन्होंने अपने फूफा की हत्या करवा दी क्योकिं उनका कद उनसे बड़ा होता जा रहा था l इसलिए यह कह पाना कठिन है की उत्तर कोरिया कब कोई कार्यवाई कर दे l  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!