वैश्वीकरण और भारतीय अर्थव्यवस्था कक्षा 10 अर्थशास्त्र नोट्स vaishvikaran aur bhartiya arthvyavastha class 10

Contents hide
4 वैश्वीकरण से बाज़ार में प्रतिस्पर्धा का माहौल बनता है और गुणवत्ता पूर्ण वस्तुएँ कम कीमतों पर उपलब्ध होती है l किसी देश में वैश्वीकरण से सामाजिक बदलाव आ सकते है जैसे उपभोक्ताओं के कपडे पहनने, गाड़ी खरीदने, खाना खाने और शिक्षा के स्तर में बदलाव l आर्थिक विकास होता है और रोजगार के नए अवसर उत्पन्न होते है l विदेशी मुद्रा भंडार में वृद्धि होती है l बहुराष्ट्रीय कंपनी वह कंपनी जो एक से अधिक देशों में उत्पादन पर नियंत्रण और स्वामित्व पर नियंत्रण रखती है उसे बहुराष्ट्रीय कंपनी कहते है l बहुराष्ट्रीय कंपनी उन देशों में अपने कार्यालय और उत्पादन के कारखाने स्थापित करती है जहाँ उन्हें सस्ता श्रम और अन्य संसाधन मिल सके l उसी स्थान पर उत्पादन इकाई लगाती है जहाँ से बाज़ार नजदीक हो l जहाँ कम लागत पर कुशल और अकुशल श्रमिक उपलब्ध हो l बहुराष्ट्रीय कम्पनियाँ निवेश करती जिससे वे मुनाफा कमाती है l भूमि भवन मशीन और अन्य उपकरणों पर किये गए खर्च को निवेश कहते है l वैश्वीकरण की प्रक्रिया में प्राद्यौगिकी परिवहन तकनीकी के विकास होने से सूदूर स्थानों पर वस्तुओं को भेजना सरल और सस्ता हुआ है l इन्टरनेट के प्रसार से सूचना तकनीकी में तेजी आई है l विभिन्न देश आपस में जुड़ गए है l प्राद्यौगिकी के प्रयोग से समय और निवेश की राशि में कमी की गयी है l जिससे लाभ बढ़ा है l

वैश्वीकरण और भारतीय अर्थव्यवस्था 

कक्षा 10 अर्थशास्त्र नोट्स 

वैश्वीकरण

विभिन्न देशों के बीच परस्पर सम्बन्ध और तीव्र एकीकरण की प्रक्रिया को वैश्वीकरण कहते है l वैश्वीकरण से सामाजिक आर्थिक और राजनितिक बदलाव आते है l वैश्वीकरण से व्यापार में प्रतिस्पर्धा बढ़ती है l 

वैश्वीकरण के प्रभाव 

सकारात्मक प्रभाव 

  1. वैश्वीकरण से बाज़ार में प्रतिस्पर्धा का माहौल बनता है और गुणवत्ता पूर्ण वस्तुएँ कम कीमतों पर उपलब्ध होती है l 
  2. किसी देश में वैश्वीकरण से सामाजिक बदलाव आ सकते है जैसे उपभोक्ताओं के कपडे पहनने, गाड़ी खरीदने, खाना खाने और शिक्षा के स्तर में बदलाव l
  3. आर्थिक विकास होता है और रोजगार के नए अवसर उत्पन्न होते है l 
  4. विदेशी मुद्रा भंडार में वृद्धि होती है l 

बहुराष्ट्रीय कंपनी 

  1. वह कंपनी जो एक से अधिक देशों में उत्पादन पर नियंत्रण और स्वामित्व पर नियंत्रण रखती है उसे बहुराष्ट्रीय कंपनी कहते है l 
  2. बहुराष्ट्रीय कंपनी उन देशों में अपने कार्यालय और उत्पादन के कारखाने स्थापित करती है जहाँ उन्हें सस्ता श्रम और अन्य संसाधन मिल सके l 
  3. उसी स्थान पर उत्पादन इकाई लगाती है जहाँ से बाज़ार नजदीक हो l जहाँ कम लागत पर कुशल और अकुशल श्रमिक उपलब्ध हो l 
  4. बहुराष्ट्रीय कम्पनियाँ निवेश करती जिससे वे मुनाफा कमाती है l भूमि भवन मशीन और अन्य उपकरणों पर किये गए खर्च को निवेश कहते है l 

वैश्वीकरण की प्रक्रिया में प्राद्यौगिकी 

  1. परिवहन तकनीकी के विकास होने से सूदूर स्थानों पर वस्तुओं को भेजना सरल और सस्ता हुआ है l 
  2. इन्टरनेट के प्रसार से सूचना तकनीकी में तेजी आई है l विभिन्न देश आपस में जुड़ गए है l 
  3. प्राद्यौगिकी के प्रयोग से समय और निवेश की राशि में कमी की गयी है l जिससे लाभ बढ़ा है l 






Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!