कक्षा 10 विज्ञान पेपर 2020 Class 10 Science Paper 2020

कक्षा 10 विज्ञान पेपर

कक्षा 10 विज्ञान पेपर

कक्षा 10 विज्ञान पेपर 2020 U like Class 10 Science Paper 2020

कक्षा 10 विज्ञान पेपर
कक्षा 10 विज्ञान पेपर

कक्षा 10 विज्ञान पेपर (हल सहित)

कक्षा – दसवीं दिल्ली 2019

निर्धारित समय :3 घंटे अधिकतम अंक : 80

सामान्य निर्देश :

(i) कक्षा 10 विज्ञान पेपर 2020 इस प्रश्नपत्र को तीन भागों, भाग ‘अ’, भाग ‘ब’ और भाग ‘स’ में बाँटा गया है। आपको सभी भागों के प्रश्नों के उत्तर लिखने हैं।

(ii) सभी प्रश्न अनिवार्य हैं। कर सिर्फ भाग ‘ब’ और भाग ‘स’ के प्रश्नों में आंतरिक चयन दिया गया है।

(iv) प्रश्नपत्र में भाग ‘अ’, भाग ‘ब’ और भाग ‘स’ में कल 36 प्रश्न हैं। भाग ‘अ’ में एक अंक के 20 वस्तुनिष्ठ प्रश्न हैं। भाग ‘ब’ में तीन अंक के 10 लघु उत्तरीय प्रश्न हैं। भाग ‘स’ में पाँच अंक के 6 दीर्घ उत्तरीय प्रश्न हैं। () कैलकुलेटर के प्रयोग की अनुमति नहीं है।

भाग ‘अ’ बहुविकल्पी प्रश्न प्रश्न में कथन के बाद दिए गए संभावित विकल्पों में से सही विकल्प का चयन कीजिए :

प्रश्न 1. अभिनेत्र लेंस इसके सामने रखी वस्तु का रेटिना पर प्रतिबिंब बनाता है। बना प्रतिबिंब है :

(a) आभासी, सीधा और आवर्धित।

(b) आभासी, उल्टा और छोटा।

(c) वास्तविक, सीधा और छोटा।

(d) वास्तविक, उल्टा और छोटा।

उत्तर-(d) नेत्र के सामने रखी वस्तु का प्रतिबिंब रेटिना पर बनता है। बना प्रतिबिंब वास्तविक, उल्टा और छोटा होता है।

प्रश्न 2. एक वैद्युत बल्ब, जोकि 1.2 A धारा 6.0 V पर प्रवाहित करता है, का प्रतिरोध होगा :

(a)0.52

(b)52

(c) 0.22

(d)22 V 6.0V

उत्तर-(b) बल्ब का प्रतिरोध R = – I 1.24 = 5.02.

प्रश्न 3. एक प्रकाश किरण AM अवतल दर्पण पर आपतित होती है, जैसा कि नीचे दर्शाया गया है। तब परावर्तित किरण का कौन-सा किरण आरेख सही है ?

(a)   चित्र A

(b) चित्र B

(c) चित्र C

(d) चित्र D

Question 3 image
Question 3 image 22w

उत्तर -(c) चूँकि दिए गए अवतल दर्पण के मुख्य अक्ष के समांतर प्रकाश किरण आपतित होती है, इसलिए परावर्तित किरण दर्पण के मुख्य फोकस से गुज़रेगी।कक्षा 10 विज्ञान पेपर 2020

प्रश्न 4. गोबर गैस संयंत्र में जैव-मात्रा की स्लरी से जैव-गैस _द्वारा उत्पन्न की जाती है।

(a) प्रभाजी आसवन

(b) वायु की उपस्थिति में रासायनिक विखंडन

(c) अवायवीय विखंडन

(d) ताप पर किण्वन

उत्तर-(c) गोबर गैस संयंत्र में जैव-मात्रा से जैव-गैस अवायवीय विखंडन (वातावरणीय ऑक्सीजन की अनुपस्थिति में विखंडन) की प्रक्रिया द्वारा उत्पन्न की जाती है।

प्रश्न 5. भाप के साथ क्रिया करने पर Fe बनाता है :

(a) FeO

(b) Fe203

(c) Fe304

(d) FeO

उत्तर-(c) Fe3SO4

प्रश्न 6. NaOH में नीला लिटमस विलयन और मिथाइल ऑरेंज सूचक मिलाने पर रंग क्रमश: परिवर्तित होता है :

(a) नीला, पीला

(b) नीला, गुलाबी

(c) पीला, गुलाबी

(d) रंगहीन, नीला

उत्तर-(a) नीला, पीला। .

प्रश्न 7. वायवीय श्वसन के संदर्भ में निम्नलिखित में से कौन-सा सबसे उपयक्त विकल्प है ?

(a) ग्लूकोज़ – (कोशिका द्रव्य में ) —–> पायरूवेट + ऊर्जा —-> (माइट्रोंकोंड्रिया में) → CO2 + H2O + ऊर्जा

(b) ग्लूकोज़ – (कोशिका द्रव्य में ) —–> पायरूवेट + ऊर्जा —-> (माइट्रोंकोंड्रिया में) → CO2 + H2O

(c) ग्लूकोज़ – (कोशिका द्रव्य में ) —–> पायरूवेट + ऊर्जा —-> (माइट्रोंकोंड्रिया में ) → CO2 + ऊर्जा

(d) ग्लूकोज़ – ( माइट्रोंकोंड्रिया में ) —–> पायरूवेट —-> (कोशिका द्रव्य में ) → CO2 + H2O + ऊर्जा कक्षा 10 विज्ञान पेपर 2020

उत्तर- a) वायवीय श्वसन में कोशिका द्रव्य में पायरुवेट बनता है और बाद में यह माइटोकॉन्डिया में विखंडित होता है।

प्रश्न 8. धमनियों के बारे में निम्नलिखित में से कौन-सा कथन सही है ?

(a) धमनियों की भित्ति मोटी और लचीली होती है जिनमें वाल्व नहीं होता, रक्त उच्च दाब पर प्रवाहित होता है और ये हृदय से रुधिर लेकर शरीर के विभिन्न हिस्सों तक पहुँचाती हैं। विभिन्न अंगों तक पहुँचाती हैं।

(b) धमनियों की पतली भित्तियों के अंदर वाल्व होते हैं और रक्त धीमे दाब पर प्रवाहित होता है। ये रक्त को हृदय से तक पहुँचाती हैं।

(c) इनकी भित्ति मोटी लचीली होती है, रक्त धीमे दाब पर प्रवाहित होता है। ये रक्त को हृदय से शरीर के विभिन्न भागों हृदय तक वापिस लाती हैं।

(d) इनकी भित्ति मोटी लचीली होती है, रक्त उच्च दाब पर प्रवाहित होता है। ये विभिन्न अंगों से रक्त इकट्ठा करके

उत्तर-(a) इनकी भित्ति मोटी लचीली होती है। ये रक्त को हृदय से दर ले जाती हैं जबकि शिराओं की भित्ति पतली को रोकने के लिए वाल्व होते हैं। होती है और उनमें वाल्व होते हैं। ये शरीर के अंगों से रक्त को वापिस हृदय तक लाती हैं। कक्षा 10 विज्ञान पेपर इनमें रक्त के प्रवाह की वापिसी को रोकने के लिए वाल्व होते है l

प्रश्न 9. पदार्थों के निम्नलिखित समूहों में से किस समूह में सिर्फ अजैव निम्नीकरणीय पदार्थ हैं ?

(i) लकड़ी, कागज, चमड़ा

(ii) पॉलीथीन, अपमार्जक, पीवीसी

(iii) प्लास्टिक, अपमार्जक, घास

(iv) प्लास्टिक, बैकेलाइट, डीडीटी

(a) (iii)

(b) (iv)

(c) (1) और (iii)

(d) (ii) और (iv)

उत्तर-(d) पॉलीथीन, अपमार्जक, पीवीसी, प्लास्टिक, बैकेलाइट और डीडीटी अजैव निम्नीकरणीय पदार्थ हैं।

प्रश्न 10. हमारे देश में, नर्मदा के आसपास टिहरी और अलामाटी जैसे निर्मित बाँधों की ऊँचाई बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है। निम्नलिखित में से उन उपयक्त कथनों का चनाव कीजिए जोकि बाँधों की ऊँचाई बढ़ाए जाने के नुकसान हैं।

(i) स्थलीय पौधों और जीवों का क्षेत्र पूर्णतः बर्बाद हो जाएगा।

(ii) क्षेत्र में रहने वाले लोगों और घरेलू जानवरों का विस्थापन। (iii) कीमती कृषि भूमि की स्थायी हानि। कक्षा 10 विज्ञान पेपर

(iv) यह लोगों के लिए स्थायी रोजगार उत्पन्न करता है।

(a) (ii) और (ii)

(b) (i), (ii) और (iii)

(c) (ii) और (iv)

(d) (i), (iii) और (iv)

उत्तर-(a) कथन (i), (ii) और (iii) सही है।

रिक्त स्थान भरिए निम्नलिखित कथनों को खाली स्थान में समुचित उत्तर भरकर पूरा कीजिए :

प्रश्न 11. एक त्रिबंध को, एकल बंध को _ _बार लिखकर दर्शाया जाता है।

उत्तर-तीन प्रश्न

12. धातुएँ आवर्त सारणी में _ _ओर आती हैं।

उत्तर-बाईं

सत्य अथवा असत्य बताइए कि निम्नलिखित कथन सत्य हैं या असत्य :

प्रश्न 13. चुंबकीय क्षेत्र रेखाएँ चुंबकीय ध्रुवों के अतिरिक्त किसी बिंदु पर प्रतिच्छेदित नहीं हो सकतीं।

उत्तर-असत्य-चुंबकीय क्षेत्र रेखाएँ चुंबकीय ध्रुवों पर भी प्रतिच्छेदित नहीं हो सकतीं।

प्रश्न 14. क्षारीय धातुएँ कठोर होती हैं और चाकू से नहीं काटी जा सकतीं।

उत्तर-असत्य।

तर्क-कारण प्रश्न

नोट : तर्क और कारण को सावधानीपूर्वक पढ़िए और नीचे दिए गए विकल्पों में से सही विकल्प को अंकित कीजिए : कक्षा 10 विज्ञान पेपर

(a) यदि तर्क और कारण दोनों सत्य हैं और कारण तर्क की सही व्याख्या है।

(b) यदि तर्क और कारण दोनों सत्य हैं लेकिन कारण तर्क की सही व्याख्या नहीं है।

(c) यदि तर्क सत्य है लेकिन कारण असत्य है।

(d) यदि तर्क और कारण दोनों असत्य हैं।

प्रश्न 15.

तर्क-एक चालक के अनुप्रस्थ काट से 6.25x10power18 इलेक्ट्रॉन प्रति सेकेंड का प्रवाह एक ऐम्पियर विद्युत धारा का निर्माण करता है।

कारण-एक इलेक्ट्रॉन पर आवेश = 1.6 x 10power-18 C.

Question 15 image
Question 15 image

प्रश्न 16. तर्क-शिराओं की भित्तियाँ धमनियों की तुलना में पतली होती हैं।

कारण- शिराओं में विऑक्सीजनित रक्त होता है।

उत्तर-(b) शिराएँ कम दाब पर रक्त को हृदय तक वापिस पहुँचाती हैं और इसकी भित्तियाँ मोटी नहीं होती।

अति लघु उत्तर वाले प्रश्न

निम्नलिखित में से प्रत्येक प्रश्न का उत्तर एक शब्द या एक वाक्य में देना है :

प्रश्न 17. विद्युत परिपथ में गैल्वेनोमीटर का क्या कार्य होता है ?

उत्तर-गैल्वेनोमीटर एक उपकरण है जो परिपथ में धारा की उपस्थिति को संसूचित करता है।

प्रश्न 18. बायोगैस (जैव-गैस ) को उत्कृष्ट (उत्तम) ईंधन क्यों माना जाता है ?

उत्तर-बायोगैस को उत्कृष्ट ईंधन माना जाता है क्योंकि यह गंधहीन है, बिना धुएँ के जलती है और कोई राख उत्पन्न नहीं करती। इसके अतिरिक्त, इसका क्लोरोफिक मान काफी उच्च है।

प्रश्न 19. किसी तत्व का इलेक्ट्रॉनिक विन्यास 2, 8, 4 है। इस तत्व का नाम और इसका रासायनिक सूत्र लिखिए।

उत्तर-सिलिकॉन, Si

प्रश्न 20. दो पारितंत्रों A और B की तुलना करने पर यह पाया गया कि A में सिर्फ प्रथम और द्वितीय क्रम के उपभोक्ता हैं, जबकि B में तृतीय, चतुर्थ और पंचम क्रम के उपभोक्ता हैं। इनमें से कौन-सा अधिक स्थायी है ?

उत्तर-पारितंत्र A अधिक स्थायी होगा क्योंकि इसमें कम पोषी स्तर हैं।

भाग ‘ब’

प्रश्न 21. उन घटनाओं के क्रम को लिखिए जो आपकी आँखों में तीव्र प्रकाश को फोकसित करने पर होते हैं।

उत्तर-जब किसी की आँख में तीव्र प्रकाश को फोकसित करते हैं, तब वह अपनी आँख झपकाता है, जोकि एक प्रतिवर्ती क्रिया है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि यह उद्दीपन (तीव्र प्रकाश के प्रति) तंत्रिका मध्यस्थता, अनैच्छिक और तत्क्षण प्रतिक्रिया है। इस अनुक्रिया के लिए लिया गया पथ प्रतिवर्ती चाप कहलाता है।

यह निम्नलिखित प्रकार से है : कक्षा 10 विज्ञान पेपर

संवेदी तंत्रिका आँख की सुग्राही कोशिकाएँ( संवेदी कोशिकाएँ ) —-> मस्तिष्क (प्रेरक तंत्रिका द्वारा) —-> आँख पेशी → पलक बंद/झपकाना (प्रकाश ग्राही) → पुतली का सिकुड़ना

प्रश्न 22. इन्द्रधनुष क्या है ? इन्द्रधनुष बनना दर्शाने के लिए नामांकित आरेख खींचिए।

उत्तर-इंद्रधनुष, वर्षा के बाद आकाश में जल के सूक्ष्म कणों में दिखाई देने वाला प्राकृतिक स्पेक्ट्रम है। इंद्रधनुष वायुमंडल में लटकती जल की सूक्ष्म बूंदों द्वारा सूर्य के प्रकाश के परिक्षेपण के कारण बनता है। जल की बूंदें छोटे प्रिज़्मों की तरह कार्य करती हैं। जल की बँदें प्रकाश को अपवर्तित एवं विक्षेपित करती हैं, इसके बाद इसका आंतरिक परार्वतन करती हैं, एवं जल की बँद से बाहर निकलते समय पुनः अपवर्तित करती हैं। प्रकाश के परिक्षेपण एवं आंतरिक परावर्तन के कारण विभिन्न वर्ण प्रेक्षक के नेत्रों तक पहुँचते हैं और इंद्रधनुष दिखाई देता है।

Rainbow Formation
Rainbow Formation

प्रेक्षक यहाँ एक महत्त्वपूर्ण बिंदु नोट करने योग्य यह है कि इंद्रधनुष हमेशा सूर्य के विपरीत दिशा में बनता है।

प्रश्न 23. किसी चायना डिश में 2g सिल्वर क्लोराइड लेकर उसे कुछ समय के लिए सूर्य के प्रकाश में रखा गया है। इस प्रकरण में आप क्या प्रेक्षण करेंगे ? होने वाली रासायनिक अभिक्रिया का संतुलित रासायनिक समीकरण दीजिए। इस रासायनिक अभिक्रिया के प्रकार को पहचानकर लिखिए।

उत्तर-जब सिल्वर क्लोराइड को सूर्य के प्रकाश में चायना डिश में रखा जाता है तो वह धूसर हो जाता है।

सूर्य का प्रकाश_ 2Ag+ Cl2 यह एक फोटोलिटिक अपघटन अभिक्रिया है।

अथवा

नीचे दिए गए प्रत्येक प्रकरण में होने वाली अभिक्रिया के प्रकार को पहचानिए और उसके लिए संतुलित रासायनिक समीकरण लिखिए :

(a) जिंक सिल्वर नाइट्रेट से अभिक्रिया करके जिंक नाइट्रेट और सिल्वर बनाता है।

(b) पोटैशियम आयोडाइड लैड नाइटेट से अभिक्रिया करके पोटैशियम नाइट्रेट और लैड आयोडाइड बनाता है।

उत्तर-

(a) यह एक विस्थापन अभिक्रिया है। संतुलित रासायनिक समीकरण है :

Zn + 2AgNO3 → Zn(NO3)2 + 2Ag

(b) यह एक द्विविस्थापन अभिक्रिया है। संतुलित रासायनिक अभिक्रिया है :

2KI + Pb(NO3)2 → PbI2 + 2KNO3

प्रश्न 24. उस अम्ल और क्षार की पहचान कीजिए जिनसे सोडियम क्लोराइड प्राप्त होता है। यह किस प्रकार का लवण है ? इसे खनिज नमक कब कहा जाता है ? खनिज नमक किस प्रकार बना है ?

उत्तर-

  • शामिल अम्ल HCl है।
  • शामिल क्षार NaOH है।
  • यह एक उदासीन लवण है।
  • इसे खनिज नमक कहा जाता है जब यह अशुद्धियों के साथ मिलकर भूरे कण बनाता है।
  • यह समुद्रों के सूखने पर बनता है।

प्रश्न 25. तत्वों के समूह की संयोजकता के आधार पर, प्रत्येक के लिए कारण सहित पुष्टि करते हुए, नीचे दिए गए यौगिकों के आण्विक-सूत्र लिखिए :

(i) समूह (ग्रुप)1 के तत्वों का ऑक्साइड।

(ii) समूह 13 के तत्वों का हैलाइड।

(iii) समूह 2 के तत्व A और समूह 17 के तत्व B के संयोजन से बने यौगिक।

उत्तर-

(i)AO जहाँ A प्रथम समूह के एक तत्व को प्रदर्शित करता है। ऐसा इसलिए क्योंकि A की संयोजकता 1 और 0 की 2 है। संयोजकताओं का क्रॉस करने पर, हमें यह सूत्र प्राप्त होता है।

(ii) AX, जहाँ X हैलोजन है। ऐसा इसलिए क्योंकि A की संयोजकता 3 और X की 1 है।

(iii) AB, – ऐसा इसलिए क्योंकि A की संयोजकता 2 और B की 1 है।

प्रश्न 26. पादप हॉर्मोन क्या होते हैं ? निम्नलिखित के लिए उत्तरदायी पादप हॉर्मोनों के नाम लिखिए :

(i) तने की वृद्धि में सहायक

(ii) कोशिका विभाजन को प्रेरित करना

(iii) वृद्धि का संदमन

(iv) कोशिका की लंबाई में वृद्धि में सहायक

उत्तर-पादप हॉर्मोन पौधों में पाए जाने वाले रासायनिक पदार्थ हैं जो उनकी वृद्धि, विकास, विभेदन, फूलों और दूसरी भौतिक प्रक्रियाओं के नियमन में दूसरे स्थान पर जाए या बिना जाए मदद करते हैं।

(i) तने की वृद्धि-जिब्बेरेलिन

(ii) कोशिका विभाजन को प्रेरित करता है-साइटोकाइनिन

(iii) वृद्धि का संदमन-एब्सिसिक अम्ल

(iv) कोशिकाओं की लंबाई में वृद्धि-ऑक्सिन

प्रश्न 27. उस पादप का नाम लिखिए जिसका उपयोग मेंडल ने अपने प्रयोगों में किया था। जब उन्होंने लंबे और बौने पादपों का संकरण कराया तो उन्हें F, और F, पीढ़ियों में संततियों के कौन-से प्रकार प्राप्त हुए ? F, पीढ़ी में उन्हें प्राप्त पौधों में अनुपात लिखिए।

उत्तर-मेंडल ने अपने प्रयोग के लिए बगीचे की मटर का प्रयोग किया।

मेंडल द्वारा उपयोग किया गया जीव मटर का पौधा था। मेंडल ने एक शद्ध लंबे पौधे (TT) और एक शुद्ध बौने पौधे (tt) का संकरण करवाया। इस प्रकार प्राप्त संतति F. संतति कहलाई।

F, पीढ़ी में उसने पाया कि 75% पौधे लंबे और 25% बौने थे। 1TT : 2Tt : 1tt. इस प्रकार, यह देखा गया कि F, में सभी लंबे और F, में लंबे और छोटे दोनों पौधे थे।

अथवा

प्रत्येक का एक-एक उदाहरण देते हुए उपार्जित और आनुवंशिक लक्षणों के बीच दो अंतरों की सूची बनाइए।

उत्तर-उपार्जित और आनुवंशिक लक्षणों के बीच अंतर निम्नलिखित हैं :

उपार्जित लक्षण

  1. यह एक जंतु अपने जीवनकाल में अर्जित करता है।
  2. जंतु अपने पूर्वजों से ग्रहण करता है।
  3. उपस्थित नहीं होते।
  4. वंशानुगत नहीं होते हैं।
  5. DNA में बदलाव से ऐसे लक्षणों पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता।
  6. उदाहरण-शरीर का भार।

आनुवंशिक लक्षण

  1. जंतु अपने पूर्वजों से ग्रहण करता है।
  2. यह किसी जीव की आनुवंशिक संरचना में प्राप्त होते है l
  3. यह आनुवंशिक संरचना में उपस्थित होते हैं।
  4. वंशानुगत होते हैं।
  5. DNA में बदलाव से ऐसे लक्षणों पर प्रभाव पड़ता है।
  6. उदाहरण-रक्त समूह।

प्रश्न 28. अपशिष्ट के निपटारे की समस्या को कम करने में हम किस प्रकार सहायता कर सकते हैं ? तीन विधियाँ सुझाइए।

उत्तर-हम निम्नलिखित तरीकों से अपशिष्ट के निपटारे की समस्या को कम कर सकते हैं :

मना करके,

कम उपयोग,

पून:उपयोग,

पुन:उद्देश्य

पुन:चक्रण।

अपने पर्यावरण को बचाने के ये पाँच मंत्र है।

(i) मना करके : जिस चीज़ की आवश्यकता न हो उसका प्रयोग न करके।

(ii) कम उपयोग : कम उपयोग करके। उदाहरण के लिए, अनावश्यक जलती बत्तियों और चलते पंखों का स्विच बंद करके, लीक (रिसाव होते) होते नलों की मरम्मत करवाकर आदि।

(iii) पुनः उपयोग : लिफाफों की दूसरी तरफ का पन: उपयोग किया जा सकता है। आचार, जैम, स्क्वै श आदि की बोतलों का रसोईघर में सामान रखने के लिए पुन: उपयोग किया जा सकता है।

(iv) पुनः उद्देश्य : जब एक उत्पाद अपने प्रारंभिक/मूल उद्देश्य के लिए नहीं प्रयोग किया जा सकता, तब इसका प्रयोग दूसरे उद्देश्य से किया जा सकता है। उदाहरण के लिए, पुरानी क्रॉकरी का प्रयोग पौधे उगाने के लिए किया जा सकता है। कक्षा 10 विज्ञान सैंपल पेपर

(v) पुनः चक्रण : प्लॉस्टिक, पेपर, काँच और धातु का पुनः चक्रण करके उपयोग किया जा सकता है।

अथवा

पारितंत्र की परिभाषा लिखिए। किसी पारितंत्र में ऊर्जा प्रवाह दर्शाने के लिए ब्लॉक आरेख खींचिए।

उत्तर-एक स्व-संपोषित तंत्र जहाँ किसी क्षेत्र के अन्योन्य क्रिया करने वाले सभी जीव और वातावरण के अजैव घटक संयुक्त रूप से पारितंत्र बनाते हैं।

ऊर्जा का प्रवाह एकदिशिक होता है।

सौर ऊर्जा (धूप) ——> उत्पादक —-> शाकाहारी ——> मांसाहारी —–> बड़े शिकारी

प्रश्न 29. तीन प्रकार की रुधिर वाहिकाओं के नाम लिखिए। प्रत्येक के एक विशिष्ट लक्षण का उल्लेख कीजिए।

उत्तर-तीन प्रकार की रुधिर वाहिकाओं के नाम हैं-धमनियाँ, शिराएँ और कोशिकाएँ। इनके विशिष्ट लक्षण निम्नलिखित हैं :

धमनी

  1. रुधिर वाहिकाएँ, जो फुफ्फुस धमनी को छोड़कर ह्रदय से शरीर के विभिन्न भागो तक ऑक्सीजनित रक्त ले जाती है l
  2. ये गहराई में धँसी होती है l
  3. धमनियों में रुधिर उच्च दब पर प्रवाहित होता है l
  4. धमनियों की दीवार मोटी और लचीली होती है l
  5. इनमे शंकरा ल्युमेन होता है l

शिराएँ

  1. रुधिर वाहिकाएँ, जो फुफ्फुस शिरा को छोड़कर विभिन्न अंगो से रक्त को वापिस ह्रदय तक पहुंचाती है l
  2. शिराएँ ऊपर ऊपर धँसी होती है l
  3. शिराओ में रुधिर निम्न दाब पर प्रवाहित होता है l
  4. शिराओं की दीवार तुलनात्मक रूप से पतली और कम लचीली होती है l
  5. इनमे ल्युमेन चौड़ा होता है l

केशिकाएँ

  1. बहुत छोटी रुधिर वाहिकाएँ जोकि लाल रंग की होती है और ये रक्त और आसपास के बीच पदार्थों का स्थानांतरण करती है
  2. केशिकाएँ शरीर के अंगो के अन्दर एक नेटवर्क बनाती है l
  3. रुधिर बहुत धीरे प्रवाहित होता है ताकि पदार्थो के स्थानांतरण में मदद हो सके l
  4. केशिकाओं में एक कोशिकीय मोटी कोशिका दीवार होती है l
  5. इसमें शंकरा ल्युमेन होता है l


प्रश्न 30. जल संग्रहण किसे कहते हैं ? सामुदायिक स्तर पर जल संग्रहण से संबंधित दो प्रमुख लाभों की सूची बनाइए। भूजल की संपोषित उपलब्धता में असफलता के दो कारण लिखिए। कक्षा 10 विज्ञान सैंपल पेपर 2020

उत्तर-वर्षा का जल जहाँ गिरे वहाँ से उसे इकटठा करना या स्थानीय क्षेत्र में बहते पानी को इकट्ठा करना जल संग्रहण कहलाता है। इस पानी का प्रयोग बाद में सिंचाई के लिए किया जाता है।

सामुदायिक स्तर पर जल संग्रहण में वर्षा जल संग्रहण शामिल है। इसके निम्नलिखित लाभ हैं :

(a) यह भूजल के स्तर में सुधार लाता है, जोकि सूखता नहीं है और इस प्रकार ट्यूबवैल आदि को रिचार्ज करता है।

(b) चूकि जल सतह पर संग्रहित नहीं किया जाता जिससे मच्छरों के पनपने का कोई स्थान नहीं होता।

भूजल की संपोषित उपलब्धता की असफलता के कारण हैं :

(i) बढ़ती जनसंख्या, शहरीकरण और औद्योगिकीकरण के चलते पानी की बढ़ती माँग के कारण भूजल का अत्यधिक प्रयोग।

(ii) वनों की कटाई के कारण कम वर्षा जिससे भूजल का कम पुनर्भरण।

भाग ‘स’

प्रश्न 31. कोई बिम्ब 30 cm फोकस दूरी के किसी अवतल लेंस से 60 cm दूरी पर स्थित है।

(i) लेंस सूत्र का उपयोग करके लेंस से प्रतिबिम्ब की दूरी ज्ञात कीजिए।

(ii) इस प्रकार में बनने वाले प्रतिबिम्ब के चार अभिलक्षणों (प्रकृति, स्थिति, साइज़, सीधा/उलटा) की सूची बनाइए।

(iii) भाग (ii) में दिए गए अपने उत्तर की पुष्टि के लिए किरण आरेख खींचिए।

उत्तर-

(i) नई कार्तीय चिह्न परिपाटी का अनुसरण करने पर,

यह दिया गया है कि बिम्ब की दूरी u = -60 cm और

अवतल लेंस की फोकस दूरी f = -30 cm है।

Lens Formula

v=-20 cm इस प्रकार, प्रतिबिंब लेंस से 20 cm दूर बिम्ब की दिशा में बनता है।

(ii) बना प्रतिबिम्ब आभासी, सीधा और छोटा होगा जोकि लेंस से 20 cm दूर है और बिम्ब की दिशा में बनेगा।

(iii) किरण आरेख नीचे बनाया गया है :

कक्षा 10 विज्ञान पेपर किरण आरेख
किरण आरेख

32. (a) किसी उपयुक्त परिपथ आरेख की सहायता से यह सिद्ध कीजिए कि पार्श्वक्रम में संयोजित प्रतिरोधों के समूह के तुल्य प्रतिरोध का व्युत्क्रम पृथक प्रतिरोधों के व्युत्क्रमों के योग के बराबर होता है। कक्षा 10 विज्ञान पेपर

(b) किसी परिपथ में 12 ओह्म के दो प्रतिरोधक 6V की बैटरी के सिरों से पार्श्वक्रम में संयोजित हैं। बैटरी से ली गई धारा ज्ञात कीजिए।

उत्तर-(a) पार्श्वक्रम में संयोजित तीन प्रतिरोधों का परिपथ आरेख यहाँ दर्शाया गया है। यहाँ सभी प्रतिरोधों का एक सिरा एक बिंदु पर संयोजित और सभी प्रतिरोधों का दूसरा सिरा दूसरे बिंदु पर संयोजित किया गया है। धारा प्रवाहित करने वाला सेल इन दो बिंदुओं के आसपास संयोजित किया गया है।

यह सुनिश्चित है कि RI, R, और R के तीन प्रतिरोधों के पार्श्वक्रम संयोजन में, प्रत्येक प्रतिरोध में प्रवाहित धारा भिन्न है। यदि सेल से खींची गई विद्युतधारा I है, तब यह II,I, और I, शाखाओं में विभाजित होती है। इस प्रकार, I=I1+I2+I3.

हालाँकि, इनमें से प्रत्येक प्रतिरोध के आसपास विभवांतर V समान है चूँकि सेल से वोल्टेज V समान है।

विद्युत् धारा नुमेरिकल
विद्युत् धारा नुमेरिकल

अथवा

परिपथ में दर्शाए अनुसार 6V की किसी बैटरी से 202 प्रतिरोध का कोई विद्युत लैम्प 42 प्रतिरोध के चालक से संयोजित है। निम्नलिखित का मान परिकलित कीजिए :

(a) परिपथ का कुल प्रतिरोध,

(b) परिपथ में प्रवाहित धारा,

(c) (i) विद्युत लैम्प और

(ii) चालक के सिरों पर विभवान्तर तथा

(d) लैम्प की शक्ति ।

विद्युत् धारा विद्युत् परिपथ
विद्युत् धारा विद्युत् परिपथ

उत्तर-प्रश्नानुसार, विद्युत लैम्प का प्रतिरोध R = 20 2, चालक का प्रतिरोध R = 4 2 और बैटरी की वोल्टेज V= 6V है।

(a) चूँकि बल्ब और चालक श्रेणीक्रम में संयोजित हैं, परिपथ का कुल प्रतिरोध R=R1 + R2 = 20 +4 = 24 ओह्म है।

(b) परिपथ से प्रवाहित धारा I = V/R=6/24 = 0.25A.

(c)

(i) विद्युत लैम्प के आसपास विभवांतर V, = IR, = 0.25 x 20 = 5 V. (ii) चालक के आसपास विभवांतर V, = IR2 = 0.25×4 = 1 V.

(d) लैम्प की शक्ति P = I2R1 = (0.25)(0.25) x 20 = 1.25 W.

प्रश्न 33. परिनालिका किसे कहते हैं ?

(i) किसी धारावाही परिनालिका और

(ii) किसी छड़ चुम्बक की चुम्बकीय क्षेत्र रेखाओं का पैटर्न आरेखित कीजिए।

इन दोनों क्षेत्रों के दो विभेदनकारी लक्षणों की सूची बनाइए।

उत्तर-एक परिनालिका एक लम्बे कार्डबोर्ड के बेलनाकार आधार के पासपास लिपटे विद्युतरोधी ताँबे के तार की बेलन की अनेक फेरों वाली कुंडली होती है। एक परिनालिका से धारा प्रवाहित करने पर परिनालिका के अक्ष के साथ एक चुम्बकीय क्षेत्र उत्पन्न हो जाता है।

(i) किसी धारावाही परिनालिका और (ii) किसी छड़ चुंबक की चुंबकीय क्षेत्र रेखाओं का पैटर्न नीचे दर्शाया गया है : किसी धारावाही परिनालिका (i) किसी धारावाही परिनालिका और (ii) किसी छड़ चुंबक की चुंबकीय क्षेत्र रेखाओं का पैटर्न नीचे दर्शाया गया है :

कक्षा 10 विज्ञान पेपर

क्षेत्रों के विभेदनकारी लक्षणों की सूची निम्नलिखित है :

किसी धारावाही परिनालिका

  1. जब परिनालिका से धारा प्रवाहित की जाती है तभी चुंबकीय क्षेत्र बनता है।
  2. परिनालिका में धारा की प्रबलता को बदलकर चुम्बकीय क्षेत्र को नियंत्रित किया जा सकता है l
  3. परिनालिका में चुम्बकीय क्षेत्र फेरों की संख्या और विद्युत् धारा पर निर्भर होता है l

किसी धारावाही परिनालिका

  1. चुंबकीय क्षेत्र स्थायी होता है।
  2. छड चुम्बक में चुम्बकीय क्षेत्र स्थाई होता है l
  3. फेरो की संख्या का इस पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है l

प्रश्न 34. उस यौगिक का नाम और रासायनिक सूत्र लिखिए जो सभी ऐल्कोहॉली पेय पदार्थों का महत्त्वपूर्ण अवयव है। इसके दो उपयोगों की सूची बनाइए। होने वाली अभिक्रिया का रासायनिक समीकरण तथा उत्पाद का नाम लिखिए जब यह यौगिक

(i) सोडियम धातु से अभिक्रिया करता है।

(ii) गर्म सांद्र सल्फ्यूरिक अम्ल से अभिक्रिया करता है।

उत्तर:

सभी एल्कोहॉली पेय पदार्थों का मुख्य अवयव इथाइल ऐल्कोहॉल या C,HOH है।

उपयोग :

(1) यह विलायक की तरह प्रयोग होता है।

(2) इसका प्रयोग दवाइयों में होता है।

(i) सोडियम धातु के साथ

2C2H5OH + 2Na→ 2C2H5ONa + H2

(ii) गर्म सांद्र सल्फ्यूरिक अम्ल के साथ

C2H50H (सान्द्र सल्फ्यूरिक अम्ल, 443 K) —> CH2 = CH2 + H2

अथवा कक्षा 10 विज्ञान पेपर

मेथेन क्या है ? इसकी इलेक्ट्रॉन-बिन्द संरचना खींचिए। इस यौगिक में बनने वाले आबंधों का प्रकार लिखिए। इस प्रकार के यौगिक

(i) विद्युत के कुचालक तथा

(ii) कम गलनांक और कम क्वथनांक वाले क्यों होते हैं ? क्या होता है जब इस यौगिक का ऑक्सीजन में दहन होता है ?

उत्तर-

यह एल्केन (हाइड्रोकार्बन) का प्रथम सदस्य है। इसका सूत्र CH4 है। इसकी इलेक्ट्रॉन बिंदु संरचना नीचे दी गई है :

मीथेन में सह्संयोजी आबंध कक्षा 10 विज्ञान पेपर
मीथेन में सह्संयोजी आबंध

(i) इसमें आवेशित कण नहीं होते। इसलिए ये विद्युत के कुचालक हैं।

(ii) अणुओं के बीच दुर्बल आकर्षण बंध होने के कारण जलाने पर, CO2 और H2O उत्पन्न होते हैं।

CH4 + 2O2 —> CO2 + 2H2O

प्रश्न 35.

(a) तालिका के रूप में उन तीन रासायनिक गुणधर्मों की सूची बनाइए जिनके आधार पर हम धातु और अधातु के बीच विभेदन कर सकते हैं।

(b) निम्नलिखित के लिए कारण दीजिए :

(i) अधिकांश धातुएँ विद्युत का भलीभांति चालन करती हैं।

(ii) आयरन (III) ऑक्साइड [Fe2O3] की तप्त ऐलुमिनियम के साथ अभिक्रिया का उपयोग मशीनी पुर्जा की दरारों को जोड़ने में किया जाता है। उत्तर- (a)

धातु

  1. धातुएँ तन अम्लों के साथ अभिक्रिया करके हाइड्रोजन गैस को विस्थापित करती है l
  2. धातुएँ धनात्मक आवेशित आयन बनाती हैं।
  3. धातुएँ ऑक्सीजन के साथ क्षारकीय ऑक्साइड बनाती है l

अधातु

  1. अधातुएँ तनु अम्लों से हाइड्रोजन को विस्थापित नहीं को विस्थापित करती हैं।
  2. अधातुएँ ऋणात्मक आवेशित आयन बनाती हैं।
  3. अधातुएँ ऑक्सीजन के साथ अम्लीय ऑक्साइड

(b) (i) धातुओं में ढीले इलेक्ट्रॉन बंध होते हैं जो विद्युत चालन में मदद करते हैं।

(ii) यह एक ऊष्माक्षेपी अभिक्रिया है। अभिक्रिया के दौरान उत्पन्न पिघला लोहा मशीनों के टूटे हिस्से जोड़ने में काम आता है।


प्रश्न 36. परागण का क्या अर्थ है ? परागण के विभिन्न प्रकारों की व्याख्या कीजिए। परागण के दो साधनों को सूचीबद्ध कीजिए ? किस प्रकार उपयुक्त वर्तिकान से निषेचन होता है ? कक्षा 10 विज्ञान पेपर 2020 class 10 science paper 2020

उत्तर-

(a) परागकोश से वर्तिकान पर परागकणों के स्थानांतरण को परागण कहते हैं। परागण दो प्रकार का होता है :

(i) स्वपरागण : किसी फूल के परागकोश से उसी फल के या उसी पौधे के किसी दूसरे फूल के वर्तिकाग्र या परागकणों का स्थानांतरण स्वपरागण कहलाता है।

(ii) परपरागण : एक फूल के परागकोश से उसी स्पीशीज़ के दूसरे पौधे पर उगने वाले फूल के वर्तिकाग्र पर परागकणों के स्थानांतरण को परपरागण कहते हैं।

परागण के साधन हैं : वायु, पानी, कीट, पक्षी, प्राणी।

(6) उपयुक्त वर्तिकाग्र पर, परागकण अंकुरित होना शुरू होकर परागनली बनाते हैं। नली में दो नर युग्मक होते हैं जो वर्तिका से विकसित होते हैं, भ्रूण थैले तक पहुँच कर और अंडे को निषेचित कर प्रथम नर युग्मक के साथ युग्मनज बनाता है। दूसरा नर युग्मक द्वितीय केंद्रक से निषेचित होकर प्राथमिक एंडोस्पर्म केंद्रक बनाता है।

अथवा

(a) दिए गए चित्र को पहचानिए। 1 से 5 तक के हिस्सों के नाम लिखिए।

कक्षा 10 विज्ञान पेपर महिला जनन तंत्र

(b) गर्भनिरोधक क्या है ? गर्भनिरोधक उपाय अपनाने के तीन लाभों को सूचीबद्ध कीजिए।

उत्तर-

(a) दिया गया चित्र मादा जनन तंत्र का है। नामांकित हिस्से हैं :

(1) फेलोपियन ट्यूब-अंडवाहिका

(2) अंडाशय

(3) गर्भाशय

(4) ग्रीवा

(5) योनि

(b) गर्भनिरोधक-यह गर्भधारण को रोकने का एक तरीका है। यह दो बच्चों के मध्य समय अंतराल रखने में मदद करता है।

  1. इस प्रकारं माता और बच्चे को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है।
  2. बेहतर देखभाल और स्वस्थ समाज।
  3. कंडोम का प्रयोग यौन संचरित रोगों से बचाव में भी मदद करता है।
  4. अधिक उत्पादकता और बेहतर आर्थिक स्तर।





Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *